Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: जानिए अजान के बाद की दुआ (Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi) और इसका तर्जुमा, इस पोस्ट को पूरा पड़ें और पूरी जानकारी हासिल करें।

अजान के बाद की दुआ को याद रखना बहुत ही जरूरी हैं अल्लाह इसका बहुत सवाब देता है, लेकिन कई भी बहनो को ये याद नहीं रहती, तो आप बिल्कुल भी न परेशान हो क्युकी आज मैं इसकी पूरी जानकारी आपके लिए लाया हूँ।

और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | जाने अजान के बाद कि दुआ

दुआ का नाम कब पढ़ी जाती है 
अजान के बाद कि दुआ (Azan Ke Baad Ki Dua)अजान होने के बाद पढ़ी जाती है।
– Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | जाने अजान के बाद कि दुआ –
Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ
Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े। 

अल्लाहुम्मा रबी हाजिहिद दवातीत ताम मह वस सलातील काइमाह आति मुहम्म्दानिल वसीलता वल फ़ज़ीलता वब अस हु मकामम महमूदा अल्लाजी व अत्तह इन्नका ला तुख लिफुल मिआद।

Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi

Azan Ke Baad Ki Dua in English | अजान के बाद की दुआ इंग्लिश मे

Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ
Azan Ke Baad Ki Dua In English | अजान के बाद की दुआ

Allaahumma Rabba Haazeehid Daavatee-T-Taammah Vassalaatil Kaayimah Aatee Muhammada Nil Vasilata Val Fazeelata Vab’asahoo Maqaamam Mahamooda Al laji Wa Attah Innaka La Tukhaliphul Meeaad.

Azan Ke Baad Ki Dua in English

Azan Ke Baad Ki Dua in Arabic | अजान के बाद की दुआ अरबी मे

Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ
Azan Ke Baad Ki Dua In Arabic | अजान के बाद की दुआ

Azan Ke Baad Ki Dua Ka Tarjuma | अजान के बाद कि दुआ

ए अल्लाह… इस पूरी पुकार और कायम होने वाली नमाज़ के रब ﷺ हज़रत मुहम्मद स.अ. को वसीला और फ़ज़ीलत अता फरमा और उनको मक़ामे महमूद में खड़ा कर जिसका तूने उनसे वादा फ़रमाया है बेशक तू वादा खिलाफी नहीं करता |

अजान के वक्त क्या पढ़ना चाहिए?

अज़ान के बोलअज़ान सुनते वक़्त आपको ये बोलना है।
अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबरअल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर
अल्लाहु-अकबर-अल्लाहु-अकबरअल्लाहु-अकबर-अल्लाहु-अकबर
अशहदु अल्लाह इलाहा इल्ललाअशहदु अल्लाह इलाहा इल्लला
अशहदु-अल्लाह-इलाहा-इल्ललाअशहदु-अल्लाह-इलाहा-इल्लला
अशहदु अन्न मुहम्मदुर्रसुल अल्लाहअशहदु अन्न मुहम्मदुर्रसुल अल्लाह
अशहदु-अन्न-मुहम्मदुर्रसुल-अल्लाहअशहदु-अन्न-मुहम्मदुर्रसुल-अल्लाह
हहैंय्या अलस सल्लाहला हौला वाला कुअता इल्ला बिल्लाहैंय्या
हहैंय्या अलस सल्लाहला हौला वाला कुअता इल्ला बिल्लाहैंय्या
हैंय्या अलल फलाह ला हौला वाला कुअता इल्ला बिल्लाहैंय्या
हैंय्या अलल फलाह ला हौला वाला कुअता इल्ला बिल्लाहैंय्या
अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबरअल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर
इलाहा इल्ललाहइलाहा इल्ललाह
— Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के वक्त क्या पढ़ना चाहिए

Azan Ke Baad Ki Dua के बारे मे

अज़ान ( Azaan ) ये वो चंद अलफ़ाज़ हैं जिन्हें हम लोग पूरे दिन में पांच बार सुनते हैं, (फ़जर, जोहर, असर, मगरीब, ईशा) यह हर मुस्लमान को नमाज़ के लिए बुलाने का तरीका है, शहर हो या देहात,

दुनिया के चारों तरफ कहीं भी नमाज़ पढ़े जाने से पहले अज़ान दी जाती है अज़ान मुक़म्मल होने के बाद ही नमाज़ी मस्जिदों में नमाज़ अदा करने जाते है |

मदीना तैयबा में जब नमाज़ बा जमात के लिए मस्जिद बनाई गई तो जब इकटठे नमाज पढने का ख्याल आया तो इसी बिच उसी रात एक सहाबी हज़रत अब्दुल्लाह बिन ज़ैद ने खवाब में देखा कि फ़रिश्तो ने उन्हे अजान और इक़ामत के शब्द सिखाए हैं।

उन्होंने सुबह सवेरे हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की खिदमत में हाज़िर होकर अपना खवाब बताया तो हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने इसे पसंद किया और उस सपने को अल्लाह की ओर से सच्चा सपना बताया

हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने हज़रत अब्दुल्लाह बिन ज़ैद से कहा कि तुम हज़रत बिलाल को अज़ान इन शब्‍दों में पढने की हिदायत कर दो, उनकी आवाज़ बुलंद है इसलिए वह हर नमाज़ के लिए इसी तरह अज़ान दिया करेंगे।

इसलिए उसी दिन से अज़ान की रिवाज बन गयी और इस तरह हज़रत बिलाल रज़ियल्लाहु अन्हु इस्लाम के पहले अज़ान देने वाले के रूप में जाने जाते है|

Azan Ke Jawab Dene Ki Fazilat Kya Hai

अज़ान का जवाब देने की फ़ज़ीलत अल्लाह ने बताई है की, हदीस शरीफ में मालूम पड़ता है-

  • के जो शक दिल से अज़ान का जवाब देगा वो जन्नत में दखिल होगा।
  • जो शक कलिमा-ए-तौहीद का जवाब दुआ से देगा उसके गुना बख्श दिए जाएंगे।
  • जो शक मुअज्जिन के अजफ़ाज़ को दोहराएगा उसके लिए जन्नत है।

Conclusion

आज आपने इस Post मे सीखा Azan Ke Baad Ki Dua क्या है और इसका तर्जुमा और मुझे उम्मीद है की आपको पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है,

और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी, और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। 

FAQs

Q. अज़ान के बाद कौन सी दुआ पढ़ी जाती है?

Ansअल्लाहुम्मा रबी हाजिहिद दवातीत ताम मह वस सलातील काइमाह आति मुहम्म्दानिल वसीलता वल फ़ज़ीलता वब अस हु मकामम महमूदा अल्लाजी व अत्तह इन्नका ला तुख लिफुल मिआद।

Q. अजान के वक्त क्या पढ़ा जाता है?

Ans – Allaahumma Rabba Haazeehid Daavatee-T-Taammah Vassalaatil Kaayimah Aatee Muhammada Nil Vasilata Val Fazeelata Vab’asahoo Maqaamam Mahamooda Al laji Wa Attah Innaka La Tukhaliphul Meeaad.

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment