4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है चारों कुल (Charo Qul In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है –

charo qul in hindi, charo qul in hindi pdf, charo qul in hindi images, charo qul hindi mai, चारो कुल हिंदी में, चारो कुल हिंदी में फोटो, चारो कुल हिंदी में लिखा हुआ, चारो कुल हिंदी में सुनिए

तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Charo Qul In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल हिन्दी मे

चारों कुल सूरह का नाम सूरह का नंबर कुरान मे
1सूरह काफिरून109
2 सूरह अल-इख़लास112
3 सूरह अल-फलक़113
4 सूरह अन-नास114
Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

दोस्तों सूरह काफिरून हिन्दी मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 109 वी सूरह है | Surah Kafiroon In Hindi

कुल या अय्युहल काफि रून – (1)
ला अ अबुदु मा ताबु दून – (2)
वला अन्तुम आ बिदूना मा अबुद – (3)
वला ना आबिदुम मा अबद्तुम – (4)
वला अन्तुम आबिदूना मा अअ बुद – (5)
लकुम दीनुकुम वलिय दीन – (6)

दोस्तों यह है चारों कुल (Charo qul in hindi) कि पहली सूरह इसका नाम है सूरह काफिरून।

दोस्तों सूरह काफिरून इंग्लिश मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 109 वी सूरह है | Surah Kafiroon In English

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Qul Yaa Ayyu hal Kaafiroon – (1)

La Aa Budu Ma Tabudoon – (2)

Wala Aantum Abi doona Ma Aabud – (3)

Wala Ana Abidum Ma Abadttum -(4)

Wala Anttum Aabi doona Ma Aabud – (5)

Lakum Deenakum Wa liya Deen – (6)

दोस्तों सूरह काफिरून अरबी मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 109 वी सूरह है| Surah Kafiroon In Arabic

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

قُلْ يَا أَيُّهَا الْكَافِرُونَ (1)

 لَا أَعْبُدُ مَا تَعْبُدُونَ (2)

 وَلَا أَنتُمْ عَابِدُونَ مَا أَعْبُدُ (3)

 وَلَا أَنَا عَابِدٌ مَّا عَبَدتُّمْ (4)

 وَلَا أَنتُمْ عَابِدُونَمَا أَعْبُدُ (5)

(6) لَكُمْ دِينُكُمْ وَلِيَ دِينِ 

सूरह काफिरून का हिन्दी तर्जुमा इस तरह है –

Charo Qul In Hindi With Translations

कह दो, ऐ काफिरों

मैं उसकी इबादत नहीं करता जिसकि तुमलोग इबादत करते हो।

ना हि तुम इबादत करते हो उसकी जिस्की मैं इबादत करता हूं।

और ना मैं इबादत करूंगा उसकी जिसकि तुमलोग इबादत करते हो।

और ना तुमलोग उसकी इबादत करने वाले हो जिसकि मैं इबादत कर रहा हूँ।

तुम्हारे लिए तुम्हारा दीन, और मेरे लिए मेरा दीन है।

4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

दोस्तों सूरह अल-इख़लास हिन्दी मे इस तरह है और इस सूरह मे 4 आयतें है, और कुरान कि यह 112 वी सूरह है | Surah Al-Ikhlas In Hindi

कुलहु वल लाहू अहद। – (1)

अल्ला हुस समद। – (2)

लम यलिद वलम यूलद। – (3)

वलम यकूल्ल लहू कुफुवन अहद। – (4)

दोस्तों यह है चारों कुल (Charo qul in hindi) कि दूसरी सूरह इसका नाम है सूरह अल-इख़लास।

दोस्तों सूरह अल-इख़लास इंग्लिश मे इस तरह है और इस सूरह मे 4 आयतें है, और कुरान कि यह 112 वी सूरह है | Surah Al-Ikhlas In English

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Kul Howal Lahu Ahad. – (1)

Allah Hus Samad. – (2)

Lam Yalid Walam Yoolad. – (3)

Walam Yakul Lahu. – (4)

Kufuwan Ahad. – (5)

दोस्तों सूरह अल-इख़लास अरबी मे इस तरह है और इस सूरह मे 4 आयतें है, और कुरान कि यह 112 वी सूरह है | Surah Al-Ikhlas In Arabic

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

(1) قُلْ هُوَ ٱللَّهُ أَحَدٌ

(2) ٱللَّهُ ٱلصَّمَدُ

(3) لَمْ يَلِدْ وَلَمْ يُولَدْ

(4) وَلَمْ يَكُن لَّهُۥ كُفُوًا أَحَدٌۢ

सूरह अल-इख़लास का हिन्दी तर्जुमा इस तरह है –

Charo Qul In Hindi With Translations

आप केह दीजिए कि अल्लाह सिर्फ एक है। – (1)

अल्लाह बेनियाज़ है। – (2)

अल्लाह न किसी का बाप है, और न किसी का बेटा। – (3)

और न कोई अल्लाह बराबर है। – (4)

4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

दोस्तों सूरह अल-फलक़ हिन्दी मे इस तरह है और इस सूरह मे 5 आयतें है, और कुरान कि यह 113 वी सूरह है | Surah Al-Falaq In Hindi

कुल अऊजू बि रब्बिल फलक। – (1)

मिन शर्री मा खलक़। – (2)

वा मिन शर्री गा सिकिन इजा वकब। – (3)

वा मिन शर्रीन नाफ्फा साती फिल उकद। – (4)

वा मिन शर्री हसिदिन इज़ा हसद। – (5)

दोस्तों यह है चारों कुल (Charo qul in hindi) कि तीसरी सूरह इसका नाम है सूरह अल-फलक़।

दोस्तों सूरह अल-फलक़ इंग्लिश मे इस तरह है और इस सूरह मे 5 आयतें है, और कुरान कि यह 113 वी सूरह है | Surah Al-Falaq In English

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Qul Auju Bi Rabbil Falaq. – (1)

Min Sharril Ma Khalak. – (2)

Wa Min Sharrill Gasikin Iza Wakab. – (3)

Wa Min Sharri Naffa Shati Fil Ukad. – (4)

Wa Min Sharri Hasidin Iza Hasad. – (5)

दोस्तों सूरह अल-फलक़ अरबी मे इस तरह है और इस सूरह मे 5 आयतें है, और कुरान कि यह 113 वी सूरह है | Surah Al-Falaq In Arabic

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

(1) قُلْ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلْفَلَقِ

(2) مِن شَرِّ مَا خَلَقَ

(3) وَمِن شَرِّ غَاسِقٍ إِذَا وَقَبَ

(4) وَمِن شَرِّ ٱلنَّفَّٰثَٰتِ فِى ٱلْعُقَدِ

(5) وَمِن شَرِّ حَاسِدٍ إِذَا حَسَدَ

सूरह अल-फलक़ का हिन्दी तर्जुमा इस तरह है –

Charo Qul In Hindi With Translations

(ऐ नबी सलल्लाहो अलैहि वसल्लम ) कहो कि मैं सुबह के रब कि पनाह लेता हूँ।

तमाम मखलूक के शर से तरह कि बुराई से जो उसने पैदा कि मैं पनाह माँगता हूँ।

और अंधेरे की बुराई से जब वह सुलझ जाए।

और गांठों में धौंकनी की बुराई से।

और जलने वाले की बुराई से जब वह जलन करे।

4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

दोस्तों सूरह अन-नास हिन्दी मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 114 वी सूरह है | Surah An-Naas In Hindi

कुल आउज़ू बी रब्बिन्नास। – (1)

मलि किन नास। – (2)

इलाहिन नास। – (3)

मिन शर्रिल वास्वासिल खन्नास। – (4)

अल्लजी युवस विसू फी सुदुरिन्नास। – (5)

मिनल जिन्नती वन्नास। – (6)

दोस्तों यह है चारों कुल (Charo qul in hindi) कि चौथी सूरह इसका नाम है सूरह अन-नास।

दोस्तों सूरह अन-नास इंग्लिश मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 114 वी सूरह है | Surah Al-Falaq In English

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Qul Auzu Bi Rabbin Nas. – (1)

Mali Kin Nas. – (2)

Ilaahin Nas. – (3)

Min Sharrill Was Wasill Khannass. – (4)

All Lazi Uwas wisoo Fi Sudurinnass. – (5)

Minal Zinnati Wan Nass. – (6)

दोस्तों सूरह अन-नास अरबी मे इस तरह है और इस सूरह मे 6 आयतें है, और कुरान कि यह 114 वी सूरह है | Surah Al-Falaq In Arabic

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े, अगर आप पढ़ चुके है तो आप सिर्फ बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

(1) قُلْ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلنَّاسِ

(2) مَلِكِ ٱلنَّاسِ

(3) إِلَٰهِ ٱلنَّاسِ

(4) مِن شَرِّ ٱلْوَسْوَاسِ ٱلْخَنَّاسِ

(5) ٱلَّذِى يُوَسْوِسُ فِى صُدُورِ ٱلنَّاسِ

(6) مِنَ ٱلْجِنَّةِ وَٱلنَّاسِ

सूरह अन-नास का हिन्दी तर्जुमा इस तरह है

Charo Qul In Hindi With Translations

(ऐ नबी सलल्लाहो अलैहि वसल्लम दुआ मे यों) कहो कि मैं लोगों के रब (मालिक) कि पनाह लेता हूँ।

लोगों के बादशाह मालिक की।

लोगों के माबूद कि पनाह में लेता हूँ।

बहकाने वाले और पीछे हट जाने वाले के शर से।

जो लोगों के दिलो को बहका डालते है।

फिर वो इंसानों में से हो या फिर जिन्नातों में से हो।

Benefits Of Charo Qul In Hindi | चारों कुल पढ़ने के फायदे 

Charo Qul In Hindi Benifits – चारों कुल पढ़ने के फायदे 

दोस्तों चारों कुल को पढ़ने के अल्लाह-त-आला ने बहुत से फायदे बताए है, आप ने कई बार सुना होगा अपने बढ़ो से चारों कुल के बारे मे के इसे पढ़ना चाहिए आज मैं आपको बताऊँगा कि इसके क्या क्या फायदे है तो चलिए जानते है अब –

पहला कुल है – सूरह काफिरून

  • सूरह काफिरुन पूरे कुरान के एक चौथाई के बराबर है।
  • अगर आप रोजाना सोने से पहले सूरह काफिरुन को पढ़ेंगे तो अल्लाह आपको पूरी रात महफूज़ रखेंगे।
  • दोस्तों सोने से पहले सूरह काफिरुन को पढ़ लिया करें इससे हम शिर्क करने से बचेंगे।

दूसरा कुल है – सूरह इखलास

  • सूरह अल इखलास को पढ़ना अल्लाह के प्यार को हासिल करना और जन्नत मे दाखिल होने का जरिया माना जाता है।
  • इसको पढ़ने से गरीबी दूर होती है और अल्लाह आपकी जिंदगी मे बरकत लाते है।
  • अगर कोई बंदा 10 मरतबा सूरह इखलास पढ़ेगा, तो अल्लाह सुभान ताला जन्नत में उस के लिए घर बनाएगा।

तीसरा कुल है – सूरह अल फलक

  • इस सूरह को पढ़ने से आप बुरी नजर से बचते है।
  • इस सूरह को पढ़ने से आप जादू-टोना से आपकी हिफाजत रहेगी।
  • इस सूरह को पढ़ने से आपकी सेहत दुरुस्त रहेगी और अगर आपको बुखार है तो वो सही हो जाएगी।
  • इस सूरह को पढ़ने से आपको बेचैनी से निजाद मिलेगी और आपको सुकून मिलेगा।

चौथा कुल है – सूरह अन-नास

  • सूरह अन-नास को पढ़ने से हमारे दिमाग से गंदी सोच दूर होती है।
  • सूरह अन-नास को रात मे घर पर पढ़ने से पूरी रात आप बुरी चीजों से और जिन्नतों कि बुराई से भी महफूज़ रहेंगे।

Charo qul in hindi कि एक हदीस –

हज़रत आयशा फरमाती है –

जब भी पैगंबर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम (ﷺ) हर रात बिस्तर पर जाते थे, तो वह अपने हाथों को एक साथ जोड़ते थे और सूरह अल-इखलास, सूरह अल-फलक और सूरह अन-नास को पढ़ते और अपने जिस्म पर फूँक मारते थे, और फिर अपने हाथों को वो जिस्म मे जहा तक ले जा सकते वह तक के हिस्से को रगड़ते थे। वो अपने अपने सिर, चेहरे और अपने शरीर के सामने के हिस्से को रागढ़ते थे ऐसा वो तीन बार करते थे।

Reference: Sahih al-Bukhari 5017
In-book reference: Book 66, Hadith 39

यह भी पड़ें –

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको चारों कुल (Charo qul in hindi) के बारे मे और चारों कुल ( Charo qul in hindi ) का हिंदी में तर्जुमा और इसकी पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। FACEBOOKTWITTERINSTAGRAM

FAQ’s (सवाल जवाब)

Q. चारों कुल कौन कौन से हैं?

Ans. दोस्तों चारों कुल (Charo qul in hindi) ये है –
(1) सूरह काफिरून (2) सूरह अल-इख़लास (3) सूरह अल-फलक़ (4) सूरह अन-नास। इसकी पूरी जानकारी हमारे ब्लॉग पर मिल जाएगी।

Q. चारो कुल पढ़ने से क्या होता है?

Ans. दोस्तों चारों कुल (Charo qul in hindi) पढ़ने से अल्लाह आपके ऊपर रहमत नजिल फरमाते है आपके गुनाहों को माफ फरमाते है और आपको बुरी चीजों से बचाते है, आपको जादू-टोना से महफूज रखते है, आपके कारोबार मे बरकत अता फरमाते है। दोस्तों चारों कुल को पढ़ने के कई हदीस मालूम पड़ती है, हमे इसे रोजाना पढ़ना चाहिए।

Q. चारों कुल कब पढ़ें?

Ans. दोस्तों आपको बता दूँ कि भी पैगंबर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम (ﷺ) हर रात बिस्तर पर जाते थे, तो वह अपने हाथों को एक साथ जोड़ते थे और सूरह अल-इखलास, सूरह अल-फलक और सूरह अन-नास को पढ़ते।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

2 thoughts on “4 Charo Qul In Hindi | चारों कुल कि पूरी जानकारी”

Leave a Comment