04. Chautha Kalma in Hindi | चौथा कलमा हिंदी मे

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है चौथा कलमा (Chautha Kalma In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है – 

chautha kalma, chautha kalma hindi mai, chautha kalma ka tarjuma, chautha meaning in hindi, chautha kalma in english, चौथा कलमा, chautha kalma hindi mein

तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Chautha Kalma In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Chautha Kalma In Hindi | Fourth Kalma

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

04. Chautha Kalma in Hindi | चौथा कलमा हिंदी मे
कलमा कलमे का नाममायने (मतलब)
चौथा कलमा तौहीद अकेला
– Chautha Kalma –

Chautha Kalma In Hindi: मे इस तरह है – लाइलाह इल्लल्लाहु वह्-दहू ला शरीक लहू लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युह यी व यु मीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ ब द न अ ब दा जुल जलालि वल इक् रा म बि यदि हिल खैर व हु व अला कुल्लि शै इन क़दीर।

दोस्तों अगर आपको छः कलमा (Six Kalma In Hindi) पढ़ना है हिन्दी तर्जुमा के साथ तो आप यहा से पढ़ सकते है नीचे पोस्ट कि लिंक दी हुई है ।

Pahla Kalmaलिंक
Doosra Kalmaलिंक
Teesra Kalmaलिंक
Chautha Kalmaलिंक
Panchwa Kalmaलिंक
Chatha Kalmaलिंक
6 Kalma in Hindi & English

Chautha Kalma In English | Fourth Kalma in English

04. Chautha Kalma in Hindi | चौथा कलमा हिंदी मे

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

दोस्तों चौथा कलमा तमजीद इंग्लिश मे इस तरह है – Laa Ila ha Illal Lahoo Wahda hoo Laa Sharee kalahoo Lahul Mulku Walahul Hamdu Yuhee Wa Yumeetu Wa Hoa Haiy Yul La Yamootu Aba dan Aba da Zul Jalal Li Wal Ikraam Beyadi hil Khair Wa Hua Ala Kulli Shai In Qadeer.

Chautha Kalma In Arabic | चौथा कलमा अरबी में

04. Chautha Kalma in Hindi | चौथा कलमा हिंदी मे

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

दोस्तों चौथा कलमा तमजीद अरबी मे इस तरह है –

لَآ اِلٰهَ اِلَّا اللهُ وَحْدَهٗ لَا شَرِيْكَ لَهٗ لَهُ الْمُلْكُ وَ لَهُ الْحَمْدُ يُحْىٖ وَ يُمِيْتُ وَ هُوَحَیٌّ لَّا يَمُوْتُ اَبَدًا اَبَدًاؕ ذُو الْجَلَالِ وَالْاِكْرَامِؕ بِيَدِهِ الْخَيْرُؕ وَهُوَ عَلٰى كُلِّ شیْ ٍٔ قَدِیْرٌؕ

चौथा कलमा हिंदी तर्जुमा | Chautha Kalma Tarjuma

चौथा कलमा का हिन्दी तर्जुमा इस तरह है –

अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं और इबादत के लायक सिर्फ अल्लाह है और वह एक है, और अल्लाह का कोई शरीक नहीं, सब कुछ अल्लाह का है, और सारी तारीफ़ें सिर्फ अल्लाह के हि लिए है,

और अल्लाह हि जिलाता और वही मारता है, और अल्लाह जिन्दा है, और अल्लाह को कभी मौत नहीं आएगी, अल्लाह बड़े जलाल वाला और बुजुर्गी वाला है, अल्लाह के हाथ में हर तरह कि भलाई है और वोह हर चीज़ पे क़ादिर है।

Chautha कलमा पढ़ने के क्या फायदे ?

चौथा कलमा पढ़ने के फायदे इस तरह है –

  1. चौथा कलमा पढ़ने से अल्लाह हमारी हर मुसीबतों और परेशानियों से लड़ने में हमारी मदद फरमाते है, हमे हौसला देते है।
  2. चौथे कलमा को पढ़ने कि एक फ़ज़ीलत यह भी है कि नबी ए करीम ﷺ हज़रत मुहम्मद सल्लाहु अलैहि वसल्लम ने यह इरसाद फरमाया कि जो इंसान सुबह के वक्त अगर चौथा कलमा को सौ मर्तबा और जब सोने लगे उस वक्त अगर इसे सौ मर्तबा पढ़ता है तो उसे बनी इसराइल के गुलामात आजाद करने का सवाब मिलेगा।
  3. चौथा कलमा को सुबह पढ़ना अच्छा मानते है।
  4. चौथा कलमा को पड़ने से हमे पूरे दिन एक ताजगी सी महसूस होती है।
  5. चौथा कलमा को पड़ने से अल्लाह हमारे कारोबार और पढ़ाई में बरकत अता फरमाते है।
  6. चौथा कलमा को पड़ने से हमारी सेहत दुरुस्त बनी रहती है, और अगरचे कोई मर्ज होता है तो इनशाल्लाह आहिस्ते-आहिस्ते सही होने लगता है।

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको चौथा कलमा (Fourth Kalma In Hindi) के बारे मे और हिंदी में तर्जुमा इसकी पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। FACEBOOK, TWITTER, INSTAGRAM

यह भी पड़ें –

FAQ’s (सवाल जवाब)

Q. चौथा कलमा क्या होता है?

Ans. दोस्तों चौथा कलमे का नाम है “तौहीद” जो इस तरह है – लाइलाह इल्लल्लाहु वह्-दहू ला शरीक लहू लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युह यी व यु मीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ ब द न अ ब दा जुल जलालि वल इक् रा म बि यदि हिल खैर व हु व अला कुल्लि शै इन क़दीर।

Q. टोटल कलमा कितने हैं?

Q. पांचवा कलमा कौन सा है?

Ans. दोस्तों पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार है जिसके माने होते है तौबा करना, अगर आप इस कलमे को सच्चे दिल से पढ़ेंगे तो अल्लाह-त-लाह आपके गुनाहों को बकसेंगे और आपको गुनाहों से बचाएंगे, इसी लिए कोशिश करे कि दिन मे एक मर्तबा तो पढ़ हि ले।

Q. कुरान का पहला कलमा कौन सा है?

Ans. दोस्तों कुरान का पहला कलम है कलमा ए तय्यब जो इस तरह है – ला इलाहा इल्लाहु मुहम्मदुर्र सूलुल्लाह

Q. कलमा कैसे पढ़ा जाता है?

Ans. दोस्तों किसी भी कलमे को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद हि कोई भी कलमे को पड़ें।

Q. दूसरा कलमा क्या है?

Ans. दोस्तों दूसरा कलमा का नाम है शहादत उसके माने होता है गवाही देना जो इस तरह है – अशहदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु, व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु व रसूलुहु”।

Q. कलमा कब पढ़ा जाता है?

Ans. दोस्तों वैसे आप कलमे को कभी भी पढ़ सकते है, लेकिन बेहतर यह है कि आप ब वुजू होके सच्चे दिल से कलमे को पड़ें।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment