05. Panchwa Kalma In Hindi | पांचवा कलमा इस्तिगफार

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है पांचवा कलमा (Panchwa Kalma In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है – 

panchwa kalma , panchwa kalma in arabic, panchwa kalma ka tarjuma, panchwa kalma in english, panchwa kalma in urdu, panchwa kalma astaghfar in hindi, panchwa kalma tarjuma ke sath, panchwa kalma with tarjuma, panchwa kalma image, पांचवा कलमा हिंदी में, पांचवा कलमा अस्तगफार, 

तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Panchwa Kalma In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Panchwa Kalma In Hindi | पाँचवा कलमा हिंदी में

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

05. Panchwa Kalma In Hindi | पांचवा कलमा इस्तिगफार
कलमा कलमे का नाममायने (मतलब)
पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार तौबा करना
– Panchwa Kalma In Hindi | पाँचवा कलमा हिंदी में –

दोस्तों पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार हिन्दी मे इस तरह है –

  • अस्तग़ फिरुल्ला ह रब्बी मिन कुल्लि जम्बिन
  • अज नब तुहु अ म द न औ ख-त-अन सिर्रन
  • औ अलानियतंव् व अतूवु इलैहि
  • मिनज जम्बिल लजी ला अ अलमु इन्नक अन्त अल्लामुल गुयूबी
  • व सत्तारुल उयूबि
  • व गफ्फा रुज्जुनुबि
  • वाला हौंला वला कुव्वत इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अजीम।

दोस्तों अगर आपको छः कलमा (Six Kalma In Hindi) पढ़ना है हिन्दी तर्जुमा के साथ तो आप यहा से पढ़ सकते है नीचे पोस्ट कि लिंक दी हुई है ।

Pahla Kalmaलिंक
Doosra Kalmaलिंक
Teesra Kalmaलिंक
Chautha Kalmaलिंक
Panchwa Kalmaलिंक
Chatha Kalmaलिंक

यह भी पड़ें –

Panchwa Kalma In English | पाँचवा कलमा इंग्लिश में

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

05. Panchwa Kalma In Hindi | पांचवा कलमा इस्तिगफार

दोस्तों पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार इंग्लिश मे इस तरह है –

  • Astag Firu llaha Rabbi Min Kulli Zham Bin
  • Ajanab Tuhu Amadan Au Khata an Sirran
  • Au Alaniyyatau Wa Atubu Ilayhi
  • Minaz Zam Billazi Alamu Wa Minaz Zambillazi La Alamu Innaka Anta Allmul Ghuyubi
  • Wa Sattarul Uyubi
  • Wa Ghaffaruz Zhunoobi
  • Wa La Haula Wa La Quwwata Illa Billahil Ali Yil Azeem.

Panchwa Kalma In Arabic | पाँचवा कलमा अरबी में

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

05. Panchwa Kalma In Hindi | पांचवा कलमा इस्तिगफार

दोस्तों पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार अरबी मे इस तरह है –

اَسْتَغْفِرُ اللهَ رَبِّىْ مِنْ كُلِّ ذَنْۢبٍ اَذْنَبْتُهٗ عَمَدًا اَوْ خَطَا ًٔ سِرًّا اَوْ عَلَانِيَةً وَّاَتُوْبُ اِلَيْهِ مِنَ الذَّنْۢبِ الَّذِیْٓ اَعْلَمُ وَ مِنَ الذَّنْۢبِ الَّذِىْ لَآ اَعْلَمُ اِنَّكَ اَنْتَ عَلَّامُ الْغُيُوْبِ وَ سَتَّارُ الْعُيُوْبِ و َغَفَّارُ الذُّنُوْبِ وَ لَا حَوْلَ وَلَا قُوَّةَ اِلَّا بِاللهِ الْعَلِىِّ الْعَظِيْمِؕ

Panchwa Kalma Translation In Hindi | पांचवा कलमा इस्तिगफार का तर्जुमा

दोस्तों पाँचवा कलमा अस्तगफ़ार का तर्जुमा हिन्दी मे इस तरह है –

मै अपने पालनहार (अल्लाह) से अपने सारे गुनाहो कि माफ़ी मांगता हुँ, जो मैंने जाने अनजाने मे किए है या फिर जान कर किए है या मैंने भूल कर किए हो यह फिर छिप कर किए हो या सरे आम किया हो और अल्लाह से तौबा करता हूँ उस गुनाह से,

जो मैं जनता हूँ और उस गुनाह से जो मैं नहीं जानता हूँ या अल्लाह बेशक़ आप गैब कि बाते जानने वाले है और ऐबों को छिपाने वाले है और गुनाहो को बख्शने वाले है, और हम्मे गुनाहो से बचने और नेकी करने कि ताक़त नहीं, अल्लाह के सिवा जो की खूब बुलंदी वाले है। 

पाँचवा कलमा पढ़ने के क्या फायदे ?

पाँचवा कलमा इस्तिगफार (Panchwa Kalma In Hindi) पढ़ने के फायदे इस तरह है –

  • दोस्तों अगर हम पाँचवा कलमा इस्तिगफ़ार को दिल से पड़ेंगे तो इनशाल्लाह जो हमने जाने अनजाने या फिर भूल कर गुनाह किए है अल्लाह उसे माफ फरमा देते है।
  • अगर हम इसे फ़जर की नामज़ के बाद पड़ेंगे तो अल्लाह हमारे गुनाह माफ करने के साथ हि हमे बुरे काम से और बुरे चीजों और बुरे लोगों से बचाते है।
  • पाँचवा कलमा को पड़ने से अल्लाह हमे अच्छे लोगों के साथ रखने की कोशिश करतें है, और हमे नेकी की राह दिखाते है।
  • पाँचवा कलमा को पड़ने से अल्लाह आपके कारोबार और घर मे बरकत अता फरमाते है।

दोस्तों ऐसे हि कई फायदे है इस कलमे को फायदे है जो हमे इस कलमे को और साथ हि और कालीमात को पड़ने से मिलते है, तो इस लिए हमे कोशिश करनी चाहिए की हमे इनकी तिलवात जरूर करनी चाहिए।

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको पाँचवा कलमा (Panchwa Kalma) के बारे मे पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। FACEBOOK, TWITTER, INSTAGRAM

FAQ’s – (Panchwa Kalma In Hindi)

Q. What is the first Kalma?

Ans. Laa ilaaha illal Lahoo Muhammad ur Rasool Ullah. (لَآ اِلٰهَ اِلَّااللهُ مُحَمَّدٌ رَّسُولُ اللہِ)

Q. What is the 2nd Kalma?

Ans. Ashahado An Laa Ilaaha Illal Wa Ash Hadu Anna Mohammadan Abdu Hoo Wa Rasoolohoo. (اشْهَدُ انْ لّآ اِلهَ اِلَّا اللّهُوَ اَشْهَدُ اَنَّ مُحَمَّدً اعَبْدُهوَرَسُولُه)

Q. पांचवा कलमा क्या है?

Ans. दोस्तों पाँचवा कलमा का नाम है अस्तगफ़ार जिसके माने होते है तौबा करना, जो की इस तरह है – अस्तग़ फिरुल्ला ह रब्बी मिन कुल्लि जम्बिन अज नब तुहु अ म द न औ ख-त-अन सिर्रन औ अलानियतंव् व अतूवु इलैहि मिनज जम्बिल लजी ला अ अलमु इन्नक अन्त अल्लामुल गुयूबी व सत्तारुल उवूबि व गफ्फा रुज्जुनुबि वाला हौंल वला कुव्वत इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अजीम।

Q. तीसरा कलमा कैसे पढ़ा जाता है?

Ans. दोस्तों आप तीसरे कलमे को कभी भी पढ़ सकते है, लेकिन बेहतर होगा की आप बा वुजू होकर सच्चे दिल से इस कलमे को पड़ें, आप इससे फ़जर की नमाज़ के बाद भी पढ़ सकते है, अल्लाह इसे कुबूल फरमाएंगे और आपको इसका सवाब जरूर देंगे।

Q. चौथा कलमा क्या है?

Ans. अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं इबादत के लायक, वह एक है, उसका कोई साझीदार नहीं, सबकुछ उसी का है। और सारी तारीफ़ें उसी अल्लाह के लिए है। अल्लाह के पास हर तरह कि भलाई है और अल्लाह हर चीज़ पे क़ादिर है।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment