01. Pehla Kalma In Hindi | जानिए पहला कलमा हिन्दी मे

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है पहला कलमा (Pehla Kalma In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है – 

Pehla Kalma In Hindi, Pehla Kalma In Hindi Image, Pehla Kalma Tarjuma In hindi, Quran Ka Pehla Kalma In Hindi, पहला कलमा तय्यब, पहला कलमा हिंदी में, पहला कलमा अरबी में, पहला कलमा कौन सा है, 

तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Pehla Kalma In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

पहला कलमा हिंदी में | Pehla Kalma in Hindi

कलमा कलमे का नाममायने (मतलब)
पहला कलमातय्यबपाक
पहला कलमा हिंदी में | Pehla Kalma in Hindi
01. Pehla Kalma In Hindi | जानिए पहला कलमा तय्यब
– Pehla Kalma In Hindi Image –

दोस्तों पहला कलमा नाम तय्यब है जो इस तरह है – “ला इलाहा इल्लाहु मुहम्मदुर्र सूलुल्लाह”।

दोस्तों अगर आपको छः कलमा (Six Kalma In Hindi) पढ़ना है हिन्दी तर्जुमा के साथ तो आप यहा से पढ़ सकते है नीचे पोस्ट कि लिंक दी हुई है.

Pahla Kalmaलिंक
Doosra Kalmaलिंक
Teesra Kalmaलिंक
Chautha Kalmaलिंक
Panchwa Kalmaलिंक
Chatha Kalmaलिंक
6 Kalma in Hindi & English

पहला कलमा इंग्लिश में | Pehla Kalma in English

01. Pehla Kalma In Hindi | जानिए पहला कलमा तय्यब
Pehla Kalma in English

दोस्तों Pehla Kalma English मे इस तरह है – “Laa ilaaha illal Lahoo Muhammad ur Rasool Ullah

पहला कलमा अरबी में | Pehla Kalma in Arabic

01. Pehla Kalma In Hindi | जानिए पहला कलमा तय्यब
-Pehla Kalma in Arabic –

दोस्तों Pehla Kalma Arabic मे इस तरह है –

لَآ اِلٰهَ اِلَّااللهُ مُحَمَّدٌ رَّسُولُ اللہِ

पहला कलमा का हिंदी तर्जुमा | Pehla Kalma Tarjuma In Hindi

दोस्तों Pehla Kalma in Hindi का तर्जुमा हिन्दी मे इस तरह हैं – “नहीं है अल्लाह के सिवा कोई माबूद और हज़रत मुहम्मद ﷺ सलल्लाहो अलैहि वसल्लम अल्लाह के प्यारे वा नेक बन्दे है और यह आखिरी रसूल है”।

Pehla Kalma In Hindi को कैसे पढ़े?

मेरे प्यारे दोस्तों आपको मालूम ही होगा Pehla Kalma इस्लाम का बहुत ही ज्यादा खास कलमा है। हमारे और आपके नबी ﷺ सलल्लाहो अलैहि वसल्लम ने पहला कलमा (Pehla Kalma In Hindi) को पढ़ने का सही तरीका यह बताया है की, जो तमाम लोग मानते भी है उनके मुताबिक Pehla Kalma तय्यब को बा वजू होकर से पढ़ने से अल्लाह तालह इसे कुबूल करते है।

इसी लिए हम सब को कालीमात को पढ़ते वक्त वुजू कर लेना चाहिए (और आपको यह भी पता होगा की बा वुजू रहने से आपकी रोजी मे भी बरकत होती है तो हम सब को इस चीज पर ध्यान देना चाहिए) फिर इस पहले कलमा को पढ़ना चाहिए।

अल्लाहमडुलियाह ज्यादा तर लोगों को इस कलमे के बारे मे इल्म है, लेकिन बहुत से भाई ऐसे भी हैं, जिन लोगों को पहले कलमे को पढ़ने के फायदे मालूम नहीं होते, आज हम पोस्ट मे Pehla Kalma तय्यब पढ़ने के फायदे भी बताएंगे जिससे जिन हजरात को इसका इल्म नहीं है उन्हे भी इसका इल्म हो जाएगा।

पहले कल्में को पढ़ने के फायदे

मेरे भाइयों और बहनों आपको बता दूँ कि आपके और हमारे प्यारे नबी ﷺ सलल्लाहो अलैहि वसल्लम ने यह फर माया था, कि इंसान पहले कलमा (तय्यब) को अच्छी तरीके से और हर दिन पढ़ेगा, उसे यह फायदे होंगे इंशाअल्लाह –

  • पहला कलमा तय्यब: को पढ़ने वाले शकक्स के पास हमेशा एक ताजगी रहेगी, और बंदा हमेशा हि खुश मिजाज रहेगा।
  • पहला कलमा तय्यब: को पढ़ने वाला, जब भी उसका वक्त इस दुनिया से पूरा होगा और वह इंतेकाल करेगा, तब उस बंदे को अल्लाह को देखने का मौका मिलेगा इनशाल्लाह तलाह।
  • पहला कलमा तय्यब: को पढ़ने वाला बंदा हमेशा हि अल्लाह कि देख-रेख में रहेगा, और किसी भी तरह के खतरे से हमेशा महफूज होगा।
  • पहला कलमा तय्यब: को पढ़ने वाला बहुत ही सूज बूज वाला व होशियार होगा, वह किसी भी मुश्किल मे डगमगाएगा नहीं, और वह आसानी से उस मुश्किल घड़ी से निकाल जाएगा।
  • पहला कलमा तय्यब: को अच्छे से पढ़ने वाले से सभी तरह कि बीमारियां दूर रहती है, और अगर उन्हें कोई बीमारियाँ होती भी है तो वो धीरे-धीरे करके ठीक होने लग जाती है।
  • पहला कलमा तय्यब: को पड़ेंगे से घर मे बरक्कत आती है, और आपके काम और पढ़ाई में मन भी लगना शुरू हो जाता है।

पहला कलमा तय्यब (Pehla Kalma In Hindi) को पढ़ने के मुखतसर और भी कई फायदे है जो हम लोगों को मालूम भी नहीं है बैरहाल हमे कसरत से इस कालीमात को पढ़ना चाहिए और अपने भाई बहनों को भी बताना चाहिए जिससे उन्हे भी फायदा हो और हमसे अल्लाह और भी खुश हो जाए।

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको पहला कलमा (Pehla Kalma In Hindi) के बारे मे पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। FACEBOOK, TWITTER, INSTAGRAM

FAQ’s (सवाल जवाब)

Q. इस्लाम का पहला कलमा क्या है?

Ans. इस्लाम का Pehla Kalma तय्यब है, जो की तरह है “ ला इलाहा इल्लाहु मुहम्मदुर्र सूलुल्लाह”

Q. दूसरा कलमा क्या है?

Ans. दोस्तों दूसरा कलमा का नाम “शहादत” है जो इस तरह है अश-हदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु व रसुलुहु”।

Q. तीसरा कलमा क्या है?

Ans. तीसरा कलम इस तरह है “सुब्हानल्लाही वल हम्दु लिल्लाहि वला इलाहा इलल्लाहु वल्लाहु अकबर वला हौल वला कुव्वता इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अज़ीम”।

Q. छठा कलमा क्या है?

Ans. छठा कलमा इस तरह है “अल्लाहुम्मा इन्नी ऊज़ुबिका मिन अन उशरिका बिका शय अव व अना आलमु बिही व अस्ताग्फिरुका लिमा ला आलमु बिही तुब्तु अन्हु व तबर्रअतू मिनल कुफरी वश शिरकी वल किज्बी वल गीबती वल बिदअति वन नमीमति वल फवाहिशी वल बुहतानी वल मआसी कुल्लिहा व अस्लमतु व अकूलू ला इलाहा इल्ललाहू मुहम्मदुर रसूलुल लाह”।

Q. पांच कलमे कौन कौन से हैं?

Ans. पाँच कलमा इस तरह है – (1) पहला कलमा तय्यब (2) दूसरा कलमा शहादत (3) तीसरा कलमा तमजीद (4) चौथा कलमा तौहीद (5) पांचवाँ कलमा इस्तिग़फ़ार

Q. चौथा कलमा क्या है?

Ans. चौथा कलमा इस तरह है – “ला इलाह इल्लल्लाहु वह्-दहु ला शरीक लहू लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युहयी व युमीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ-ब-दन अ-ब-दा जुल-जलालि वल इक् रामि वियदि-हिल खैर व हु-व अला कुल्लि शैइन क़दीर”।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment