113. Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है सूरह फलक तर्जुमा के साथ (Surah Falaq In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है –

surah falaq in hindi, surah falaq in hindi tarjuma, surah falaq in hindi meaning, surah falaq benefits in hindi, surah falaq ki fazilat in hindi, सूरह फलक हिंदी में, सूरह फलक के फायदे, सूरह फलक का तर्जुमा, सूरह फलक in hindi, सूरह फलक की फजीलत

 तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Surah Falaq In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ

सूरह नामसूरह फलक (Surah Falaq)
सूरह का नंबर113
कुल आयतें5
कुल रुकु1
– Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ –

यह भी पड़ें – तहज्जुद की नमाज का तरीका

Surah Falaq In Hindi | Surah Al Falaq

113. Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ
– Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ –

NOTE: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

  1. कुल अऊजु बिरब्बिल फलक
  2. मिन शर रिमा ख़लक़
  3. वामिन शर रिग़ासिकिन इज़ा वकब
  4. वमिन शर रिन नफ़फ़ासाति फ़िल उक़द
  5. वमिन शर रिहासिदिन इज़ा हसद

Surah Falaq In English | सूरह फलक इंग्लिश मे

113. Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ
– Surah Falaq In English | सूरह फलक इंग्लिश मे –

NOTE: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

  1. Qul a’oozu bi rabbil-falaq
  2. Min sharri maa khalaq
  3. Wa min sharri ghaasiqin izaa waqab
  4. Wa min sharrin-naffaa-saati fil ‘uqad
  5. Wa min sharri haasidin izaa hasad

Surah Falaq In Arabic | सूरह फलक अरबी मे

113. Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ
– Surah Falaq In Arabic | सूरह फलक अरबी मे –
  1. قُلۡ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلۡفَلَقِ
  2. مِن شَرِّ مَا خَلَقَ
  3. وَمِن شَرِّ غَاسِقٍ إِذَا وَقَبَ
  4. وَمِن شَرِّ ٱلنَّفَّـٰثَٰتِ فِي ٱلۡعُقَدِ
  5. وَمِن شَرِّ حَاسِدٍ إِذَا حَسَدَ

सूरह फलक (अरबी: سورة الفلق‎‎) कुरान की 113वी सूरह है। यह मक्की सूरह है और इसमें 5 आयतें हैं। सूरह फलक का नाम सूरह के पहले शब्द “फलक” (अल-फ़लक) से लिया गया है, जिसका अर्थ है “प्रभात” या “सुबह” होता है।

सूरह फलक में अल्लाह से चार चीजों से पनाह मांगी गई है:

  • हर उस चीज़ की बुराई से जिसे अल्लाह ने पैदा किया है।
  • अँधेरी रात की बुराई से जब उसका अंधेरा छा जाए।
  • जादूगरनियों की बुराई से।
  • हसद करने वालों की बुराई से।

सूरह फलक एक ताकतवर सूरह है, और इसे अक्सर बुराई से पनाह मांगने के लिए पढ़ा जाता है। यह सूरह पैगंबर मुहम्मद ﷺ सलल्लाहो अलैहि वसल्लम पर उतारी गई जब उन पर जादू किया गया था।

सूरह फलक का तर्जुमा इस तरह है –

113. Surah Falaq In Hindi | सूरह फलक तर्जुमा के साथ
– सूरह फलक का तर्जुमा इस तरह है –

बिस्मिल्लाहिर् रहमानि रहीम

  1. कहो, मैं सुबह के मालिक की पनाह चाहता हूँ।
  2. हर उस चीज़ की बुराई से जिसे उसने पैदा किया है।
  3. अँधेरी रात की बुराई से जब उसका अंधेरा छा जाए।
  4. जादूगरनियों की बुराई से।
  5. और हसद करने वालों की बुराई से जब वो हसद करने लगे।

सूरह फलक की हदीस –

हजरत आयशा रजि अल्लाह तलह अन्हु से रिवायत है, जब भी अल्लाह के रसूल(ﷺ) हर रात सोने के लिए जाते, तो वह सूरह-अल-इखलास, सूरह-अल-फलक और सूरह नास की तिलावत करते थे।

और फिर अपने हाथ पर फूकने के बाद अपने चेहरे और उन हिस्सों पर फेरते थे ,जहाँ तक उनका हाथ पहुंच पता और जब अल्लाह के रसूल(ﷺ) बीमार पढ़ते, तो मुझे उनके लिए ठीक वैसा ही करने का हुकुम देते थे जैसे वो करते थे (Sahih al-Bukhari 5748)

यह भी पड़ें –

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको सूरह फलक के बारे मे पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू।

 FACEBOOKTWITTERINSTAGRAM

FAQs ( सवाल जवाब )

Q. सूरह फलक मे कितनी आयाते है?

Ans. इस सूरह मे कुल 5 आयाते है।

Q. सूरह फ़लक का अनुवाद क्या हैं?

Ans. कहो, मैं सुबह के मालिक की पनाह चाहता हूँ।
हर उस चीज़ की बुराई से जिसे उसने पैदा किया है।
अँधेरी रात की बुराई से जब उसका अंधेरा छा जाए।
जादूगरनियों की बुराई से।
और हसद करने वालों की बुराई से जब वो हसद करने लगे।

Q. सूरह फलक कौन से पारे में है?

Ans. कुरान मजीद के 30वें पारा में है और 113 वी सूरह है यह सूरह मक्की है, इस में 5 आयतें हैं।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment