114. Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now

अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू: दोस्तों हम इस पोस्ट में पड़ने वाले है सूरह नास (Surah Naas In Hindi) के बारे मे, जैसे की मुझे पता है, आप लोग ज्यादातर गूगल पे इस तरह सर्च करते है – 

Surah Naas In Hindi, surah naas in hindi tarjuma, surah naas in hindi translation, surah naas in hindi meaning, surah nas in hindi meaning, surah an nas in hindi, surah naas benefits in hindi, सूरह नास हिंदी में, सूरह नास की फजीलत, सूरह नास का तर्जुमा, सूरह नास इन हिंदी, सूरह नास पढ़ने के फायदे,

 तो मैं आज आपके लिए इसकी पूरी जानकारी लाया हूँ, और अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे अगर आपके दोस्त को भी Surah Naas In Hindi के बारे मे नहीं पता तो,

उसे भी इसका इल्म होगा इससे आपको भी सवाब मिलेगा और साथ हि मुझे भी। और अगर आपको हमारा काम अच्छा लगता है तो हमें Subscribe भी जरूर कर लेँ जिससे आपको Notification मिलती रहें…

Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

सूरह का नामकुल अयातेंसूरह नंबर
सूरह नास (Surah An-Naas)6114
– Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे –
114. Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे
– Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे –

दोस्तों सूरह नास हिन्दी मे इस तरह है –

  • क़ुल अऊज़ु बिरब्बिन-नास
  • मलिकिन-नास
  • इलाहिन-नास
  • मिन शररिल वसवासिल ख़न्नास-
  • अल्लज़ी युवास्विसु फ़ी सुदूरिन्नास
  • मिनल-जिन्नति वन्नास

यह भी पड़ें –

दोस्तों अगर आपको छः कलमा (Six Kalma In Hindi) पढ़ना है हिन्दी तर्जुमा के साथ तो आप यहा से पढ़ सकते है नीचे पोस्ट कि लिंक दी हुई है ।

Pahla Kalmaलिंक
Doosra Kalmaलिंक
Teesra Kalmaलिंक
Chautha Kalmaलिंक
Panchwa Kalmaलिंक
Chatha Kalmaलिंक
6 Kalma in Hindi & English

Surah Naas In English| सूरह नास इंग्लिश मे

Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे
– Surah Naas In English| सूरह नास इंग्लिश मे –

दोस्तों Surah Naas इंग्लिश मे इस तरह है –

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

  • Qula a’ūzu birabbin-nās
  • Malikin-nās
  • Ilāhin-nās
  • Min śararil vasavāsil ḵẖannās –
  • Allazī yuvāsvisu fī sudūrinnās
  • Minal-jinnati vannās

Surah Naas In Arabic | सूरह नास अरबी मे

114. Surah Naas In Hindi | सूरह नास हिन्दी मे
– Surah Naas In Arabic | सूरह नास अरबी मे –

दोस्तों Surah Naas अरबी मे इस तरह है –

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

قُلْ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلنَّاسِ

مَلِكِ ٱلنَّاسِ

إِلَـٰهِ ٱلنَّاسِ

مِن شَرِّ ٱلْوَسْوَاسِ ٱلْخَنَّاسِ

ٱلَّذِى يُوَسْوِسُ فِى صُدُورِ ٱلنَّاسِ

مِنَ ٱلْجِنَّةِ وَٱلنَّاسِ

Surah Naas Hindi Tarjuma | सूरह नास का हिन्दी तर्जुमा

  • (हे नबी!) कहो कि मैं इन्सानों के परवरदिगार की पनाह में आता हूँ।
  • जो सारे इन्सानों का मालिक है।
  • जो सारे इन्सानों का माबूद है।
  • वस्वसा डालने वाले और छुप जाने वाले के बुराई शर से।
  • जो लोगों के दिलों में भ्रम (वस्वसा) डालता रहता है।
  • जो जिन्नों में से हो या फिर इंसानों मे से।

सूरह नास के बारे मे

Surah Naas का पहला फायदा यह हैं कि ये हमें हमारे ज़िंदगी के बुरे और सही तरीकों के बारे में बताता है।

इस सूरह में, हमने पाया है कि अल्लाह हम इंसान को बनाने वाले है और सिर्फ अल्लाह हि है जो सारे जहानं के मालिक है। अल्लाह ने सभी इंसानों को बनाया है, और अब हमें हमेशा अल्लाह से मदद और पनाह मंगनी चाहिए।

इस सूरह को पढ़ने से अल्लाह हमें बुरे खयालों से और शैतान के पूरे तरीकों से भी बचा सकता है। शैतान हमें बेहकाना चाहता है और हमें उसके बताए रास्ते पर चलने को कहता है, इस लिए हमे इस सूरह को पढ़ना चाहिए जिससे कि हम शैतान के बहकावे मे नया आए।

शैतान चाहता है कि वो हमे अपने साथ जहन्नमं में डाल दें लेकिन अल्लाह हमारी मदद करना चाहता है क्योंकि अल्लाह कयामत के दिन हमारी खुशी और कामयाबी चाहते हैं।

इस सूरह में, हमे यह पता चलता है कि शैतान हमारे खिलाफ है और हमें “जहन्नमं” से कभी नहीं बचाना चाहता। शैतान हमें जन्नत के रास्ते से भटकाने के लिए हर तरह कि कोशिश करना चाहता है और इससे बचने के लिए हमे अल्लाह की मदद की जरूरत है।

यह भी पड़ें –

Surah Naas से जुड़ी हदीस

सहीह अल-बुखारी की हदीसों में से एक और अन्य हदीस किताबों की कई अन्य हदीसों में कहा गया है कि Surah Naas का खुलासा तब हुआ जब हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम लबीब इब्न आसम नाम का एक यहूदी के जरिए जादू के असर से दर्द मे थे,

ज़ायद इब्न अरक़म ने बताया कि उसने हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम पर जादू कर दिया था, और हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम कुछ दिनों के बाद इसके खतरनाक असर को महसूस कर रहे थे।

फिर कुछ दिनों के बाद, हज़रत जबरील वहाँ आए और Surah Naas और सूरह अल फलक दोनों को नाजिल किया। हज़रत जिबरील ने फरमाया कि “यह एक यहूदी के जादू का असर था, और आप निश्चित रूप से उस जादू के वजह से बुरा महसूस कर रहे हैं।”

फिर उसके बाद, हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम ने हजरत अली से कहा कि वहां जाकर इस सूरह के बारे मे लोगों को बताओ। उस सूरह को पढ़ने के बाद, हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम बेहतर और अच्छा महसूस कर रहे थे।

सूरह नास कब और कहाँ नाज़िल हुई 

यह सूरह मक्का में नाज़िल हुई लेकिन कुछ रिवायत मे इस सूरह को मदीना में नाज़िल किया गया ऐसा भी बताया गया है।

दोस्तों जैसे जैसे इस्लाम की दावत फैलती गयी, कुफ्फार और कुरेश की मुखालिफत उसी तेजी से बढ़ती गयी जिन-जिन लोगो ने इस्लाम कुबूल किया उन के खानदान के दिलों में तो हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम के खिलाफ हर पल गुस्सा रहा करता था।

हर घर पे सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को कोसा जा रहा था, लोग इस फ़िराक मे थे कि कैसे वो रात को छिप कर हुज़ूर सलल्लाहो अलैहि वसल्लम को कतल कर दें,

जिससे बनी हाशिम को कातिल का पता भी ना चल सकें, लोगों ने आप पर जादू टोना भी किया और ये सोचते रहे कि किसी तरह आप बीमार हो जाएं या फिर आपका इंतकाल हो जाएं।

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको सूरह नास (Surah Naas In Hindi) के बारे मे और सूरह नास का तर्जुमा और इसकी पूरी जानकारी मिल गई होगी,

अगर आपको कुछ पूछना है तो हमे कमेन्ट करके या फिर हमारे सोशल मीडिया अकाउंट मे मैसेज करके पूछ सकते है, और इस पोस्ट को जरूर शेयर करे इससे हमे बहुत खुशी होगी,

और हमारी वेबसाईट Deengyaan.in पर आते रहे, इंशा अल्लाह इसी तरह की इनफार्मेशन मै आप तक पहुचता रहूँगा, अल्लाह हमारे और आपके गुनाहों को माफ फरमाए और हमे इस्लाम कि हर चोटी से बड़ी छीजे सीखने की हिदायत फरमाए, अस्सलाम अलैकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू। FACEBOOKTWITTERINSTAGRAM

यह भी पड़ें –

FAQs (सवाल जवाब)

Q. सूरह नास मे कितनी आयाते है?

Ans. सूरह नास मे 6 आयाते है।

Q. सूरह नास कौन सी नंबर कि सूरह है?

Ans. यह सूरह कुरान कि 114 नंबर सूरह है।

Q. सूरह नास हिन्दी मे?

Ans. क़ुल अऊज़ु बिरब्बिन-नास, मलिकिन-नास, इलाहिन-नास, मिन शररिल वसवासिल ख़न्नास-, अल्लज़ी, युवास्विसु फ़ी सुदूरिन्नास, मिनल-जिन्नति वन्नास ।

Sharing Is Caring:

Deengyaan.in में आपका खुशामदीद है, मेरा नाम है Anwaar Aslam और मै इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। पिछले 3 वर्षों से मैं इस वेबसाइट के जरिए इस्लामी जानकारी Share कर रहा हूं। मेरा मकसद है सरल और आसान तरीके से इस्लाम की Knowledge को सब तक पहुंचाना है।

Leave a Comment